Latest News
पंजाब में रेल हादसा, रावण दहन देखने आए लोगों पर चढ़ी ट्रेन, 50 की मौत की आशंका      रेल यात्रियों के लिए नई सुविधा, स्क्रीन पर उंगली रखते मिलेगी पूरी डिटेल      रेलवे रिजर्वेशन के लिए आधार होगा जरूरी, अप्रैल तक सभी पर लागू होगा      फेस्टिवल सीजन में निचले बर्थ का ज्यादा दाम वसूलेगा रेलवे      मगध एक्सप्रेस के इंजन में लगी आग, 4 घायल      इस ट्रैक पर 125 की स्पीड से चलेगी ट्रेन, 50 हजार से ज्यादा लोगो को मिलेगी नौकरी      क्रिसमस गिफ्ट: मुंबई में शुरू हुई देश की पहली एसी लोकल ट्रेन      ट्रायल के दौरान दीवार तोड़कर निकली दिल्ली मेट्रो, DMRC ने मानी गलती      वॉशिंगटन में बड़ा ट्रेन हादसा, हाइवे पर गिरी ट्रेन; कई के मरने की आशंका      इंटरलॉकिंग के चलते 5 दिनों तक रद्द रहेंगी कई गाडिय़ां      मोदी ने हैदराबाद मेट्रो रेल सेवा का उद्घाटन किया      कोहरे को देखते हुए दिसंबर-फरवरी के बीच नहीं चलेंगी ये 46 ट्रेनें      ओखला रेलवे स्टेशन पर ईएमयू बेपटरी      चित्रकूट के निकट ट्रेन हुई बेपटरी, तीन की मौत, बीस घायल       रेलवे का कारनामा: महाराष्ट्र जाने वाली ट्रेन पहुंच गई मध्य प्रदेश      लुटेरों का फिल्मी अंदाज, 2 रुपए के सिक्के से रोक देते थे ट्रेन      दिल्ली में जहरीली धुंध का कहर जारी, 100 से ज्यादा ट्रेनें लेट ,8 ट्रेनें रद्द      ट्रैन में अब जरूरत पड़ने पर इलाज भी करेंगे टीटीई      मोदी, हसीना ने नयी ट्रेन को दिखायी हरी झंडी      पटरी पर दौड़ेगी नई गोल्ड स्टैंडर्ड ट्रेन, इन सुविधाओं से होगी लैस     
 
नौकरी देने के नाम पर ऐसे हो रही लाखों की ठगी
 

किचन सेंटर संचालक के भतीजे को रेलवे में नौकरी लगाने का झांसा देकर 30 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। हाईकोर्ट के आदेश पर पुलिस ने कार्रवाई की है। आरोपी ने खुद को रेल अफसर बताकर ठगी की है।सिविल लाइन पुलिस के अनुसार कुदुदंड निवासी सुनील पटेल पिता बाबूलाल (29) महर्षि स्कूल रोड मंगला में चिकन सेंटर चलाता है। वर्ष 2016 में कोटा निवासी अमित कुमार कन्नौजे उसकी दुकान में चिकन लेने आता था। वह खुद को उसलापुर स्टेशन में पदस्थ रेल अफसर बताता था।आरोपी ने दावा किया कि वह उसके परिवार के किसी भी सदस्य को रेलवे में टीटीई बनवा सकता है। इसके एवज में रकम खर्च करनी होगी। सुनील उसके झांसे में आ गया और अपने भतीजे भास्कर पटेल को रेलवे में नौकरी दिलाने के लिए 10 लाख रुपए में सौदा कर लिया।बाद में प्रक्रिया पूरी करने के लिए 10 हजार 8 सौ रुपए वसूल लिए। इस बीच 10 लाख रुपए भी वसूली कर लिया। इसके बाद उसके भतीजे को रेलवे का फार्म जमा कर परीक्षा भी दिलाई। बाद में उसने कीमत बढ़ जाने व भास्कर के परीक्षा में फैल होने के बहाने अधिक रकम की मांग की।उसका कहना था कि नौकरी के लिए 25 से 30 लाख रुपए खर्च करना पड़ेगा। उसके झांसे में आकर फंसे सुनील उसके कहे अनुसार रकम देता रहा। इस तरह से वह किश्तों में 30 लाख 52 हजार 4 सौ रुपए दे दिए। फिर भी उसके भतीजे की नौकरी नहीं लगी।बाद में ठगी का अहसास होने पर उसने पुलिस से शिकायत की। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं हुई। लिहाजा, सुनील ने मामले में हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दिया। हाईकोर्ट ने उसके पक्ष में आदेश दिया और सिविल लाइन पुलिस को आपराधिक प्रकरण दर्ज करने कहा है। कोर्ट के आदेश पर सिविल लाइन पुलिस ने आरोपी ठग के खिलाफ धारा 420 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।



Back
दिल्ली मेट्रो मे 9003 पुरुषों का चलान कटा महिला कोच में चढ़ने पर,
नौकरी देने के नाम पर ऐसे हो रही लाखों की ठगी